Search
Close this search box.

Follow Us

Gopalganj: धार्मिक परेड में मस्जिद को तोड़फोड़ का मामला

गोपालगंज में धार्मिक परेड के दौरान एक मस्जिद को तोड़फोड़ किया गया, जिससे एक गंभीर और सांप्रदायिक हालात पैदा हुआ। यह घटना हतुआ पुलिस थाना क्षेत्र में आई, जहां दो दलों के बीच तनाव बढ़ा, जिससे क्षेत्र में हड़कंप और अशांति मच गई।

सुप्रिंटेंडेंट ऑफ पुलिस, स्वर्ण प्रभात, ने इस स्थिति पर टिप्पणी की, कहते हुए, “1 अक्टूबर की शाम को गोपालगंज में महावीर अखाड़ा प्रदर्शन के दौरान दो दलों में टकराव हुआ। इस झड़प के चलते क्षेत्र में हिंसा बढ़ गई। हालांकि, पुलिस टीमों ने बहुत ही कम समय में स्थिति को नियंत्रित कर लिया।”

सोशल मीडिया पर SDPO अनुराग कुमार का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें उन्हें प्रदर्शन के दौरान ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाते हुए देखा जा सकता है। उन्हें धार्मिक प्रदर्शन की महावीरी अरेना के साथ नारे लगाते हुए दिखाया गया। वीडियो में मस्जिद भी दिखाई देती है। इस घटना में लगभग 20 हजार लोग मौजूद थे, जिसे पुलिस के अनुराग कुमार ने मस्जिद के पास से लोगों को हटाने के लिए किया था, जैसा कि पुलिस ने बताया।

सुप्रिंटेंडेंट प्रभात ने कहा, “SDPO ने कानून और व्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाए।” हालांकि, उन्होंने भी ध्यान दिया, “पुलिस वर्दी में धार्मिक नारे उठाना अनुचित है।”

स्थानीय निवासी अहमद के अनुसार, स्थिति विद्वेषी बन गई जब कई अखाड़ा समूहों ने मस्जिद के पास आकर पुलिस के साथ झगड़ा किया। उन्होंने दावा किया कि प्रदर्शन में लोगों ने मस्जिद पर हमला किया।

अहमद ने कहा, “वीडियोज़ जो वायरल हो रहे हैं, उसमें नहीं दिखाया जा रहा है कि मस्जिद और मुस्लिमों के घरों पर हमला हुआ। मुस्लिम समुदाय तब प्रतिक्रिया दी जब हमला दूसरी ओर से शुरू हुआ।”

अहमद ने इसके अलावा बताया कि इस घटना के बाद कई मुस्लिमों को गिरफ्तार किया गया।

“केवल उस दल से चार लोगों को गिरफ्तार किया गया जिन्होंने मुश्किल खड़ी की थी,” उन्होंने जोड़ा।

Abhi Varta
Author: Abhi Varta

Leave a Comment

Read More