Search
Close this search box.

Follow Us

बुधसी बाघा नदी पर वहां के पैक्स अध्यक्ष द्वारा अवैध कब्जा कर लाखो की कमाई।

सिधवलिया (बुधसी पंचायत) गोपालगंज विदित हो कि बुधसी भूमिहारी टोला व मंगोलपुर के मध्य बाधा नदी है जो बुचेया पंचायत से बहते हुए बुधसी स्थित कुंड में पुरानी नहर पार कर मिल जाती है इसी नदी में बुधसी (भूमिहारी टोला) निवासी सत्येंद्र सिंह वल्द कमल सिंह रविंद्र सिंह वल्द कमल सिंह आदि ने कई बीघा जमीन का फर्जी बैनामा करवा लिया था जिसका निरस्तीकरण पूर्व प्रमुख सिधवलिया संगीता सिंह के अथक परिश्रम के बाद दिनांक 22.7.2022 को शासन द्वारा कर दिया गया परंतु फर्जी बैनामा करने वालों और कराने वालों पर शासन की तरफ से कोई भी कानूनी कार्रवाई नहीं की गई जिसके कारण बुधसी पंचायत के कई गांवों और टोलो के गैर -मजरूआ जमीन, परती- करीम जमीनपर लोगों द्वारा फर्जी बैनामा करा -करा कर जोत बो किया जा रहा है, जिससे सरकार के राजस्व को भारी क्षति हो रहा है l गौरतलब हो कि बाघा नदी का यह जमीन अभी तक सत्येंद्र सिंह रविंद्र सिंह व जितेंद्र सिंह का परिवार फर्जी बैनामा निरस्त होने के बावजूद भी जोत बो कर रहा है तथा लाखों रुपए की कमाई इस जमीन के ऊपज से कर रहा है।

पूर्व प्रमुख सिधवलिया संगीता सिंह

सत्येंद्र सिंह पैक्स अध्यक्ष है उसका आना-जाना अंचल और ब्लॉक में है जिसके कारण तत्कालीन अंचलाधिकारी अभिषेक भ्रष्टाचार में संलिप्तता के वजह से पूर्व प्रमुख संगीता सिंह के आवेदन देने के बाद भी गुमराह कर कार्रवाई नहीं करता था अभी वर्तमान में बाघा नदी के उस भूमि मौजा सिधवलिया थाना नंबर 365 के खाता संख्या 289 खेसरा संख्या -74 रकबा – 02 बीघा 15 धूर 05 धूरकी एवं खेसरा संख्या 146 रकबा -01 बिघा 15 धूर 05 धूरकी का जमीन मलिक व ठेकेदार किस्म का जमीन खतियान में गैर मजरूआ मालिक व ठेकेदार किस्म का नाला -भाग दर्ज है इस भूमि पर अवैध तरीके से अंचल से मिली भगत कर जमाबंदी संख्या 731 एवं जमाबंदी संख्या 156 करा ली गयी थी धर्मशीला देवी पति (पैक्स अध्यक्ष बुधसी) सतेंद्र सिंह एवं उनके बड़े भाई की पत्नी सुमन देवी पति रविंद्र सिंह के नाम से शासन द्वारा इस जमाबंदी को निरस्त कर दी गयी थी। पूर्व प्रमुख संगीता सिंह के अथक प्रयास के कारण जिसका जमाबंदी संख्या 731 (कम्प्यूटरीकृत जमा बंदी संख्या 1971227000 48834) निरस्तीकरण डेट 22/7/2022 को कर दिया गया था।अभी वर्तमान में बाघा नदी के उस जमीन में सरसों की खेती है जो पक गई है जिसकी कटाई कभी भी वे लोग कर सकते हैं फसल नहीं कटे,सरकारी राजस्व को क्षति न हो इसलिए पूर्व प्रमुख सिधवलिया संगीता सिंह ने पुनः दिनांक 1- 3 -2024 को सरसों की फसल की जप्ती करने,फर्जी बैनामा कराने वालों पर कार्रवाई करने हेतु वर्तमान अंचलाधिकारी, राजस्व कर्मचारी, जिला अधिकारी व माननीय मुख्यमंत्री को पत्र के माध्यम से सूचित किया है। उन्होंने यह भी कहा है माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना जल जीवन हरियाली का उन्हीं के अंचलाधिकारी व कर्मचारी पेट्रोल डालकर आग लगा रहे हैं। बुधसी पंचायत में बाघा नदी से लेकर कुंड तथा कई जलाशय, पोखरों पर स्थानीय लोगों ने कब्जा कर लिया है, जिसकी सूचना समय -समय पर अंचलाधिकारियों को लिखित व मौखिक रूप से देने के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं होती है। इसका मुख्य कारण है अंचल अधिकारियों का भ्रष्ट होना। जिस जमीन की जमाबंदी दो बर्ष पूर्ब हो गया हो, उस जमीन पर अभीतक अवैध कब्जा हो। यह सब सुशासन के सरकार में हीं संभव है। सिधवलिया ब्लॉक और अंचल में कोई भी अवैध काम पैसे देकर आप कर सकते हैं।

Abhi Varta
Author: Abhi Varta

Leave a Comment